Republic Day Speech in Hindi - 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में 2020 PDF File


Republic Day Speech in Hindi 2020 – प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को हम सभी गणतंत्र दिवस मनाते है। इस वर्ष 26 जनवरी 2020 को भारत का 71वां गणतंत्र दिवस (71th Republic Day) मनाया जायेगा। आज ही के दिन हमारे देश में हमारा खुद का संविधान लागू किया था और 26 जनवरी 1950 के दिन भारत प्रजातान्त्रिक गणतंत्र देश बना था।

हम सभी के लिए गणतंत्र दिवस केवल एक पर्व का ही नहीं बल्कि गौरव और सम्मान का दिन भी है। साथ ही उन सभी महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानीयों के त्याग और बलिदान को याद करने का दिन भी है। यह दिन प्रत्येक भारतीय का अभिमान है, आज के दिन हर विद्यालय तथा विश्विद्यालयों में भाषण भी दिया जाता है, तो दोस्तों अगर आप एक विद्यार्थी हैं या अध्यापक हैं तो आप के लिये यहाँ पर आपके सम्बोधन के लिये एक बेहतरीन भाषण Republic Day Speech in Hindi में उपलब्ध कराया गया है। इसे आप अपने विद्यालय या कॉलेज आदि में अपने भाषण के लिये उपयोग में ले सकते हैं।

26 जनवरी को सभी स्कूल कॉलेजों में लोग गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में भाषण देते हैं अगर आप भी एक अच्छा सा प्रभावशाली भाषण देना चाहते हैं तो हमारा यह भाषण आपके काम आयेगा :-

Republic Day Speech in Hindi: गणतंत्र दिवस भाषण

आज के इस विशेष शुभ दिन के लिए यहाँ उपस्थित सभी को शुभप्रभात मैं (यहाँ पर अपना नाम ) कक्षा……का छात्र हूँ। (अगर आप एक शिक्षक है तो शिक्षक हूँ बोलें ) आज के इस विशेष अवसर पर हम सभी भारत का 71वां गणतंत्र दिवस (71th Republic Day)मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं।

सर्वप्रथम मैं आप सभी लोगों धन्यवाद देना चाहता हूँ / चाहती हूँ कि आप सभी लोगों ने मुझे इस शुभ दिन पर ये मौका दिया कि मैं गणतंत्र दिवस पर आपके सामने अपने अपने विचार अपने शब्द रख सकूं। आज का दिन उन देशभक्तों के त्याग, तपस्या,शौर्य और बलिदान की अमर कहानियों को याद करने का दिन है जिनके कारण हम गणतंत्र स्थापित का सके है।

शताब्दियों की परतंत्रता के उपरांत हमने 15 अगस्त 1947 को आजादी पायी देश के स्वतंत्र होने के ढाई वर्ष पश्चात 26 जनवरी 1950 को देश के कर्णधारों ने भारत के नवीन सविंधान को लागू किया तभी से भारत का सर्वोच्च शासक राष्ट्रपति कहलाता है और 26 जनवरी 1950 से ही आज के दिन को हम सभी गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। 26 जनवरी की तिथि का स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में अपना महत्व है। सन 1930 को रावी नदी के तट पर कोंग्रेस के लाहौर अधिवेशन में स्वर्गीय श्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने पूर्ण स्वतंत्रता की घोषणा की। 26 जनवरी 1930 को उन्होंने प्रतिज्ञा की कि “जब तक हम पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्त न कर लेंगे तब तक हमारा स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन चलता रहेगा। औऱइसे प्राप्त करने के लिये हम अपने प्राणों की आहुति दे देंगे। ” इसी कारण 26 जनवरी का दिन ही भारत के गणतंत्र की घोषणा के लिये चुना गया। इसी दिन हम पूर्ण रूप से स्वाधीन हो गए उस दिन लार्ड माउंटबेटन ( गवर्नर जनरल) के स्थान पर डॉ राजेंद्र प्रसाद हमारे राष्ट्र के प्रथम राष्ट्रपति बने। आज भी यह पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है।

Also Check: Republic Day Speech In English

भारतवर्ष में ‘स्वराज’ के लिए हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने पुरे जीवनभर संघर्ष किया। उन्होंने अपने प्राणों का बलिदान भी दिया ताकि उनकी आने वाली पीढ़ी यानि हमें कोई संघर्ष न करना पड़े और हम देश को आगे लेकर जा सकें किन्तु आज हम सभी कहाँ आकर खड़े हो गये हैं यह बहुत ही शर्म की

Leave a Reply